वर्ष 2016 के लिए शांति पुरस्कार ऐसे शख्स को दिया जा रहा है जिसने लगभग 50 साल से (अब तक के सबसे लम्बे ) चले आ रहे रक्तरंजित संघर्ष को महज 4 साल में ही ख़त्म कर दिया और अपने देश में शांति स्थापित की , दक्षिण अमेरिका का चौथा सबसे बड़ा देश कोलंबिया सन 1964 से ही गृह युद्ध की आग में जल रहा है और इसी कोलंबिया के वर्तमान राष्ट्रपति ख़्वान मानवेल सांतोस को 2016 के नोबेल शांति पुरस्कार के लिए चुना गया है |

उन्हें अपने देश में 50 साल से चल रहे गृहयुद्ध को खत्म करने के प्रयासों के लिए सम्मानित किया गया है. कोलंबिया के राष्ट्रपति सांतोस और रेवोल्यूशनरी आर्म्ड फोर्सेज ऑफ कोलंबिया (फार्क) नेता हाल ही में करीब चार साल से जारी वार्ताओं के दौर के बाद समझौते तक पहुंचे थे. सांतोस को पुरस्कार के तौर पर नौ लाख 30 हजार डॉलर दिए जाएंगे।

कोलंबिया के राष्ट्रपति बनने से पहले सांतोस इससे पहले की सरकार में रक्षामंत्री के पद पर थे. 2010 में सांतोस ने बहुमत में वोट हासिल करके राष्ट्रपति चुनाव जीता और उसके बाद से अपनी नीतियों में बदलाव लाकर वह फार्क से साथ शांति समझौता कायम करने में जुट गए.

क्या है कोलंबिया गृह युद्ध…..?

कोलंबिया का गृहयुद्ध दुनिया के सबसे भीषण संघर्षों में गिना जाता है. 1964 में शुरू हुए इस संघर्ष के अंत तक करीब दो लाख बीस हजार लोगों की जान जा चुकी है और 80 लाख लोग विस्थापित हुए.

कोलंबिया में 50 साल से भी ज्यादा समय तक चले गृहयुद्ध को खत्म करने में सांतोस ने अहम भूमिका निभाई।

उन्होंने ने रेवोल्यूशनरी आर्म्ड फोर्सेज ऑफ कोलंबिया (फार्क) के विद्रोहियों के साथ 26 सितंबर को शांति समझौता किया था।फार्क विद्रोहियों और कोलंबिया सरकार के बीच चार साल चली बातचीत के बाद स्थायी शांति के लिए समझौता हुआ था।बाद में कोलंबिया की जनता ने जनमत संग्रह में बेहद कम अंतर से इस समझौते को नकार दिया था।

आखिर क्या है फार्क?

फार्क कोलंबिया के ही नहीं दुनिया के सबसे लंबे चलने वाले विद्रोही गुटों में से एक है. इसकी स्थापना 1964 में हुई थी और शुरूआत में इसमें वह किसान और मजदूर शामिल हुए थे, जिन्होंने कोलंबिया में व्याप्त असमानता के खिलाफ लड़ाई लड़ने की ठानी थी.

कोलंबिया में फार्क संगठन की पहचान गोरिल्ला समूह के रूप में ही रही है. वर्तमान में फार्क में करीब 6 से 7 हजार सक्रिय सदस्य हैं. यह संख्या बीते कुछ वर्षों में काफी कम हुई है, पहले यह आंकड़ा 20 हजार से अधिक था.इसमें शामिल होने वाले ज्यादातर लोग गरीब वर्ग से आए हैं, लेकिन मानवाधिकार संगठनों का आरोप रहा है कि फार्क बलपूर्वक अपने संगठन में गरीबों को शामिल करता है.

कोलंबिया सरकार के साथ शांति बहाली की प्रक्रिया में शामिल होने का एक महत्वपूर्ण कारण  फार्क की गिरती सदस्यता भी रहा.


Leave a Reply

Your email address will not be published.