प्रधानमंत्री का ऐतिहासिक ईरान दौरा – मई 2016

भारत के प्रधानमंत्री- श्री नरेंद्र मोदी

ईरान के राष्ट्रपति-  श्री हसन रूहानी

यात्रा का माह – मई 2016

समझोते – 12

महत्वपूर्ण समझोता – चाबहार बंदरगाह का विकास

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तेहरान यात्रा के दूसरे दिन दोनों रणनीतिक भागीदार देशों ने 12 समझौतों पर हस्ताक्षर किए। जिसमें भारत द्वारा चाबहार बंदरगाह के विकास का महत्वपूर्ण समझौता भी शामिल है। व्यापारिक और रणनीतिक दृष्टि से महत्वपूर्ण चाबहार बंदरगाह के विकास के लिए भारत 50 करोड़ डॉलर मुहैया कराएगा।भारत और ईरान ने आतंकवाद, चरमंथ और साइबर अपराध से मिलकर निपटने का निर्णय किया है।

इसके अलावा दोनों पक्षों ने व्यापार ऋण, संस्कृति, विज्ञान और प्रौद्योगिकी तथा रेलमार्ग जैसे विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग के कई और समझौतों पर भी हस्ताक्षर किए। पीएम ने इन समझौतों को सामरिक रिश्तों की दिशा में नया अध्याय करार दिया।

दोनों नेताओं के बीच आर्थिक सहयोग के मसले पर विस्तार से बात हुई। दोनों देशों ने व्यापार संबंधों को और विस्तार देने तथा रेलवे समेत बाकी क्षेत्रों में अधिक विस्तृत संचार संपर्क स्थापित करने पर भी बात की। भारत और ईरान ने तेल, गैस और उर्वरक क्षेत्र में साझेदारी बढ़ाने तथा शिक्षा, तथा सांस्कृतिक संपर्क बढ़ाने पर भी सहमति जतायी।

प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता में चाबहार बंदरगाह के विकास, एल्युमिनियम स्मेल्टर संयंत्र और रेल लाइन स्थापित करने से संबंधित समझौतों पर हस्ताक्षर हुए। पीएम मोदी 15 वर्षों में ईरान की द्विपक्षीय यात्रा पर जाने वाले पहले प्रधानमंत्री हैं। पीएम ने इस बात को याद किया कि कैसे गुजरात में जब भूकंप आया तो मदद के लिए आगे आना वाला पहला देश ईरान ही था। पीएम ने साफ कहा कि भारत और ईरान की दोस्ती उतनी ही पुरानी है जितना पुराना इतिहास है। दोनों देशों के रिश्ते काफी पुराने हैं और पीएम इन्हीं रिश्तों को आगे बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं।

Add a Comment

Your email address will not be published.