“प्रमुख अन्तराष्ट्रीय सीमा रेखा”

  1. डूरंड लाइन:- अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान की सीमा पर 2,640 किलोमीटर लम्बी सीमा रेखा को डूरंड रेखा कहते हैं| यह रेखा सन 1893 में ब्रिटिश इंडिया और अफ़ग़ान प्रतिनिधियों के बीच हई एक सहमती का नतीजा है| इस रेखा का नाम ब्रिटिश इंडिया के तत्कालीन विदेश मंत्री सर मॉर्टिमर डूरंड के नाम पर रखा गया था|
  2. मैकमोहन रेखा : 1914 में सर मैकमोहन (ब्रिटेन) ने भारत-चीन सीमा के विवाद को सुलझाने के लिए 700 किमी. लम्बी इस रेखा को तैयार किया था |
  3. रेडक्लिफ रेखा : यह रेखा, भारत और पाकिस्तान के मध्य सीमाओं का निर्धारण करती है, यह सीमा 3310 किमी लम्बी है इसका निर्धारण 15 अगस्त 1947 को सर रेडक्लिफ ने किया था |
  4. हिंडनबर्ग रेखा : प्रथम विश्व युद्ध के समय जर्मनी की सेना पोलैंड से जिस रेखा से लौटी थी वही रेखा को हिंडनबर्ग रेखा कहा जाता है |
  5. मैनरहीन रेखा: सोवियत रूस और फ़िनलैंड के बीच की रेखा है |
  6. मैगीनाट रेखा : 1929 से 1938 के बीच फ़्रांस द्वारा जर्मनी और फ़्रांस के बीच कंक्रीट, लोहा इत्यादि से मिलकर एक सीमा रेखा का निर्माण कराया गया जो फ़्रांस और जर्मनी को अलग करती है|
  7. 17 वीं समानांतर रेखा : यह उत्तरी वियतनाम तथा द. वियतनाम के बीच स्थित थी| वियतनाम के एकीकरण के पहले यह देश को दो भागों में बांटती थी। अब यह रेखा नही है क्योंकि वियतनाम अब संयुक्त हो गया है |
  8. 24 वीं समानांतर रेखा : यह रेखा भारत तथा पाकिस्तान के बीच कच्छ के पास स्थित है| पाकिस्तान के अनुसार यह रेखा भारत पाकिस्तान के बीच ठीक – ठीक सीमा का निर्धारण करती है लेकिन भारत इस रेखा को स्वीकार नहीं करता है।
  9. 38 वीं समानांतर रेखा : यह उत्तर कोरिया तथा दक्षिण कोरिया को दो भागों में बांटती है यह वर्तमान विश्व में सबसे ज्यदा संवेदनशील सीमा रेखा है जहाँ किसी भी क्षण युद्ध का खतरा रहता है |
  10. 1410 पश्चिमी देशांतर रेखा: यह अलास्का (USA) और कनाडा के बीच की सीमा रेखा है |
  11. 49 वीं समानांतर : यह उत्तरी अमेरिका तथा कनाडा को दो भागों में बांटती है।
  12. ओडरनीसे रेखा: द्वितीय विश्व युद्ध के बाद निर्धारित की गई। यह पूर्व जर्मनी त​था पोलैंड के बीच स्थित है|
  13. सीजफ्राइड रेखा : यह जर्मनी तथा फ्रांस के बीच है और इसे जर्मनी ने बनाया है |