बेमिसाल सरदार की बेमिसाल स्टैच्यू ऑफ यूनिटी(Statue of Unity) : आइए जाने इनसे जुड़ी 10 गर्व पूर्ण बातें

एकता का प्रतीक : सरदार वल्लभ भाई पटेल (Statue of Unity)

अगर हम भारत के इतिहास को देखें तो जान पाएंगे की सरदार वल्लभभाई पटेल ने  इस देश को एकजुट रखने में कितना महत्वपूर्ण योगदान दिया था| असल में हिंदुस्तान 565 रियासतों का एक समूह था, जब  बड़ी मुश्किलों के बाद ब्रिटिश हुकूमत से हमें आजादी मिली तो हमारे सामने एक बड़ी समस्या खड़ी हो गई थी की इतनी बड़ी संख्या में रियासतों को एकजुट बनाकर केसे रखा जाये , ऐसे कठिन वक्त में सरदार पटेल ने अपनी नीतियों और व्यक्तित्व के दम पर देश को बिखरने से बचाया|

आखिर क्यों अलग होने वाली थी 565 रियासतें

दोस्तों यह सब परिणाम था अंग्रेजों की फूट डालो और शासन करो नीति का | हिंदुस्तान से जाते जाते आजादी के समय  इस देश को ब्रिटिश हुकूमत ने तीन विकल्प दिए थे, पहला भारत में शामिल हो दूसरा पाकिस्तान का हिस्सा बन जाओ या फिर अपने आप को स्वतंत्र घोषित कर दो| अंग्रेजों द्वारा दिए गए इस विकल्प को हर रियासत अपने हिसाब से  भुनाना चाहती थी, और यही कारण था जिससे हिंदुस्तान 565 रियासतों में टूटने वाला था, लेकिन सरदार पटेल की समझदारी ,अनुभव और नीतियों के चलते ऐसा ना हो सका जिसके परिणाम स्वरूप आज हम विश्व के सबसे बड़े लोकतांत्रिक गणतंत्र  देश में रहते हैं| इसी कारण से सरदार पटेल को एकता का प्रतीक माना गया और यह मूर्ति उन्हें समर्पित की गई है |

स्टैच्यू ऑफ  यूनिटी है बेमिसाल: एकता का प्रतीक

 

आज पूरी दुनिया में स्टैचू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity) की बात हो रही है. सभी बात कर रहे हैं स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की भव्यता तथा ऊंचाई की .जितना ऊंचा कद सरदार पटेल का हम भारतवासियों के हृदय में है यह मूर्ति उस सम्मान को निरूपित करती है. स्टैचू ऑफ यूनिटी का निर्माण गुजरात के  नर्मदा जिले में स्थित केवड़िया में किया गया है, यह विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा है |

 

10 गौरवशाली बातें जिन्हें जानकर आप कहेंगे यह तो वाकई बेमिसाल है

 

1.विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टेचू ऑफ़ यूनिटी (Statue of Unity) का निर्माण लार्सन एंड ट्रुबो निर्माण कंपनी ने किया है,इस प्रतिमा की कुल ऊंचाई 182 मीटर हैं और यह चीन में स्थित स्प्रिंग टेंपल की बुद्ध की प्रतिमा ( 153 मीटर) तथा न्यूयॉर्क में स्थित स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी से  लगभग दुगनी ऊंची है|

 

2.स्टेचू ऑफ यूनिटी(Statue of Unity) का निर्माण राम वी सुतार की देखरेख में हुआ है, इन्हें साल 1999 पद्मश्री और साल 2016 में पद्म भूषण से सम्मानित किया जा चुका है.

 

3.सरदार पटेल की स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity) नर्मदा नदी पर सरदार सरोवर बांध से 3.5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है.

 

4.स्टैचू ऑफ यूनिटी का निर्माण  लगभग 33 महीने में हुआ है जो कि एक विश्व रिकॉर्ड है. कंपनी ने इसका निर्माण 19 दिसंबर 2015 में शुरू किया था. स्प्रिंग टेंपल की बुद्ध प्रतिमा के निर्माण में  लगभग 11 साल का समय लगा था.

 

5.इस मूर्ति के निर्माण में 2989 करोड़ रुपए की लागत आई है.

 

6.सरदार पटेल की मूर्ति पर कांसे की परत का आंशिक काम छोड़ कर बाकी सब कुछ का निर्माण हमारे देश में ही किया गया.

 

7.स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity) का कुल वजन 1700 टन है. कुल 182 मीटर ऊंचाई में से इसके पैरों की ऊंचाई 80 फीट तथा हाथों की ऊंचाई 70 फीट है, चेहरे की ऊंचाई भी 70 फीट है .

 

8.ऊंचाई के हिसाब से देखें तो सरदार पटेल की  यह मूर्ति लगभग 60 मंजिला इमारत के बराबर होगी.

 

9.मूर्ति के आसपास एक शानदार प्राकृतिक उद्यान बनाया गया है यहां एक संग्रहालय भी है जिसमें सरदार पटेल के जीवन से जुड़ी घटनाओं का विवरण होगा तथा लाइट एंड साउंड शो भी होगा.

 

10.ऐसा अनुमान किया गया है स्टैचू ऑफ यूनिटी को देखने के लिए प्रतिदिन करीब 15000 पर्यटक आएंगे.

 

सरदार पटेल और उनकी स्टेच्यू  ऑफ यूनिटी के बारे में यह रोचक जानकारी प्राप्त कर कर आपको कैसा लगा हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताइए, हमारी माध्यम से आप सरदार पटेल को थोड़ा बहुत जान पाएंगे होंगे.