भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव-2016

47 वें भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) का आयोजन गोवा में  किया गया इसमें भारतीय अभिनेता, निर्देशक एवं निर्माता अजय देवगन उद्घाटन समारोह में मुख्‍य अतिथि थे और राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार विजेता निर्देशक एस.एस. राजामौली समापन समारोह में मुख्‍य अतिथि थे।

आईएफएफआई 2016 के लिए विश्‍व भर से कुल 1032 प्रविष्टियां प्राप्‍त हुईं, जिनमें से 88 देशों की 194 फिल्‍मों का चयन इस दौरान दिखाने के उद्देश्‍य से किया गया|

47वें आईएफएफआई के लिए विशेष फोकस वाला देश दक्षिण कोरिया था और इस दौरान कोरियाई सिनेमा जगत की सर्वोत्‍तम फिल्मों का प्रदर्शन किया गया।

अंतरराष्‍ट्रीय प्रतिस्‍पर्धा खंड में विश्‍व भर की 15 फिल्‍में दिखाई गईं जिनमें भारतीय पैनोरमा खंड से दो भारतीय फिल्‍में थी। इस खंड के तहत सर्वोत्‍तम फिल्‍म, सर्वोत्‍तम निर्देशक, सर्वोत्‍तम अभिनेता–पुरुष, सर्वोत्‍तम अभिनेत्री के लिए पुरस्‍कार के साथ-साथ विशेष ज्‍यूरी पुरस्‍कार भी प्रदान किए गए।

आईएफएफआई के दौरान ‘किसी निर्देशक की प्रथम सर्वोत्‍तम फीचर फिल्‍म के लिए “शताब्‍दी पुरस्‍कार”इस नये प्रतिस्‍पर्धा खंड के तहत युवा प्रतिभा को सम्‍मानित किया गया। इस खंड के तहत वर्ष 2016 के

दौरान विश्‍वभर में किसी भी निर्देशक द्वारा पहली बार निर्देशित की गई कुछ उत्‍कृष्‍ट फिल्‍में दिखाई गईं। विजेता को रजत मयूर से सम्‍मानित किया गया और 10 लाख रुपये की नकद राशि दी गई।

इसके अलावा केंद्र सरकार ने अंतरराष्‍ट्रीय फिल्‍म महोत्‍सवों में भारतीय सिनेमा को बढ़ावा देने के लिए एक ‘फिल्‍म प्रोत्‍साहन कोष’ बनाने की दिशा में एक नई पहल की। इस पहल से स्‍वतंत्र फिल्‍म निर्माताओं को विश्‍व भर में अपनी रचना का प्रचार करने में मदद मिलेगी।

मुख्य तथ्य

1.महोत्‍सव की शुरुआत उत्‍कृष्‍ट फिल्‍म ‘आफ्टर इमेज’ से हुई, जो जाने-माने लेखक एवं निर्देशक स्‍वर्गीय एंड्रेज वाज्‍़दा की एक रचना है।

2.आईएफएफआई के 47वें संस्‍करण का समापन एकेडमी अवार्ड्स के लिए दक्षिण कोरिया की आधिकारिक प्रविष्टि ‘द एज ऑफ शैडोज’ के साथ हुआ, जिसका निर्देशन किम जी वून ने किया है। यह फिल्म ऑस्कर पुरस्कार के लिए भी नामांकित हुई है।

3.ईरान के रजा मीरकरीमी की ‘डॉटर’ को सर्वश्रेष्ठ फिल्म (स्वर्ण मयूर और चालीस लाख रुपए) और इसी फिल्म के फरहद असलानी को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता (रजत मयूर और दस लाख रुपए) का पुरस्कार मिला।

4.सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार (रजत मयूर और दस लाख रुपए) लातविया की एलिना वास्का को फिल्म ‘मैलो मड’ में बेहतरीन अभिनय के लिए दिया गया।

5.सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का पुरस्कार (रजत मयूर और पंद्रह लाख रुपए) तुर्की के बरीस काया और सोनेर कनेर को संयुक्त रूप से उनकी फिल्म ‘रऊफ’ के लिए दिया गया।

6.दक्षिण कोरिया के ली जून इक को उनकी फिल्म ‘द थ्रोन’ के लिए स्पेशल जूरी पुरस्कार (रजत मयूर और पंद्रह लाख रुपए) से नवाजा गया।

7.चिली की पेपा सेन मार्टिन को उनकी फिल्म ‘रारा’ के लिए निर्देशक की पहली फिल्म का सेंटेनरी अवार्ड (रजत मयूर और दस लाख रुपए) दिया गया।

8.शांति, सहिष्णुता और अहिंसा को समर्पित आईसीएफटी यूनेस्को गांधी मेडल तुर्की के मुस्तफा कारा की फिल्म ‘कोल्ड ऑफ कालंदर’ को दिया गया।

9.अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर ख्‍याति प्राप्‍त कोरियाई लेखक एवं निर्देशक इम क्‍वोन तेइक को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्‍मानित किया गया और 10 लाख रुपये की नकद राशि दी गई।

10.ख्‍याति प्राप्‍त गायक एस.पी. बालासुब्रमण्‍यम को ‘वर्ष 2016 की भारतीय फिल्‍म हस्‍ती के लिए शताब्‍दी पुरस्‍कार’ से सम्मानित किया गया। यह पुरस्‍कार उन्‍हें भारतीय सिनेमा के विकास में उल्‍लेखनीय योगदान के लिए दिया गया।

Add a Comment

Your email address will not be published.