पं. दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन हुआ मुगलसराय जंक्शन का नाम

#Mughalsarai Junction, #BHU-AIIMS, # Sindhu

Aug 06, 2018 #Mughalsarai Junction, #BHU-AIIMS, # Sindhu

उत्‍तर प्रदेश के मुगलसराय जंक्‍शन रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर पं. दीनदयाल उपाध्‍याय जंक्शन कर दिया गया है. भारतीय जनता पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह ने नए स्‍टेशन का उद्घाटन किया.इस मौके पर रेल मंत्री पीयूष गोयल, रेल राज्‍यमंत्री मनोज सिन्‍हा और मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ मौजूद रहे.रेलमंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि अकेले यूपी में रेलवे में साढ़े पांच हजार करोड़ का निवेश हो रहा है.

ब्रिटिश शासनकाल में कोलकाता से नई दिल्ली माल ढुलाई के लिए 1862 में हावड़ा से दिल्ली जाने के लिए रेलवे लाइन का विस्तार किया। वहीं 1880 में मुगलसराय रेलवे स्टेशन भवन का निर्माण किया गया। इसके बाद मुगलसराय स्टेशन का नाम प्रचलन में आ गया।स्टेशन भवन का 1982 में निर्माण कार्य पूरा हुआ। वही 1978 में मुगलसराय स्टेशन पूर्व रेलवे का मंडलीय मुख्यालय बना। मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम एशिया में यार्ड से मशहूर है। एकलौता एशिया का यार्ड साढ़े 12 किमी में फैला है। यार्ड में 250 किमी रेलवे लाइन का संजाल बना है। यार्ड में 10 ब्लाक केबिन व 11 यार्ड केबिन है। वहीं 19वीं शताब्दी में विद्युत लोको शेड की स्थापना की गई।

एम्स के बराबर किया गया बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के आयुर्विज्ञान संस्थान का दर्जा

#Mughalsarai Junction, #BHU-AIIMS, # Sindhu

वाराणसी में बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के आयुर्विज्ञान संस्थान- आई.एम.एस. का दर्जा बढ़ाकर अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान-एम्स किया जा रहा है। इस आशय के समझौता ज्ञापन पर केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री, केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री तथा उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से कल वाराणसी में हस्ताक्षर किये गये। बी.एच.यू. के आई.एम.एस. में सात सौ अतिरिक्त बिस्तर और सुपर स्पेशिलिटी स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगीं। इस संस्थान को एम्स का दर्जा दिये जाने में धन की कमी आड़े नहीं आने दी जाएगी।

भारतीय सेना को जल्द मिलेंगी 400 आधुनिक तोपें, चीन-पाकिस्तान की सीमा पर होंगी तैनात

#Mughalsarai Junction, #BHU-AIIMS, # Sindhu

भारतीय सेना को इस समय 400 से भी ज्यादा तोपों की जरूरत है. इसमें वो आधुनिक तोपें शामिल हैं जिन्हें भारत-पाकिस्तान और चीन की सरहद पर तैनात किया जाएगा. ये हर मौसम में कारगर तोप हैं जिन्हें अत्यधिक ऊंचाई से लेकर रेगिस्तान या फिर पहाड़ से लेकर बर्फीले पहाड़ों पर तैनात किया जाएगा.

भारतीय सेना के बेड़े में शामिल हो रही सभी तोपें मेक इन इंडिया के तहत तैयार की जा रही हैं. भारतीय सेना को 145 तोपों को मिलने की प्रक्रिया में तेजी लाने को कहा गया है. मई 2018 में धनुष 155/45 कैलिबर वाली तोप का यूजर ट्रायल पोखरण में हो चुका है. आर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड को कहा गया है कि 114 तोपों को जल्द तैयार करके भारतीय सेना को सुपुर्द करे.

खाते में न्यूनतम राशि नहीं रखने पर बैंकों ने एक साल में ग्राहकों से वसूले 5,000 करोड़ रुपये

#Mughalsarai Junction, #BHU-AIIMS, # Sindhu

सार्वजनिक क्षेत्र के 21 बैंकों और निजी क्षेत्र के तीन प्रमुख बैंकों ने बीते वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान खाते में न्यूनतम राशि नहीं रख पाने को लेकर उपभोक्ताओं से 5,000 करोड़ रुपये वसूले हैं.सबसे ज्यादा 2,433.87 करोड़ का जुर्माना भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने वसूला है जो कि कुल जुर्माना राशि का लगभग 50 प्रतिशत है.एसबीआई को बीते वित्त वर्ष में 6,547 करोड़ रुपये का भारी नुकसान हुआ है. यदि बैंक को यह अतिरिक्त आय नहीं होती, तो उसका नुकसान और ऊंचा रहता.

कुल 24 बैंकों द्वारा उभोक्ताओं से न्यूनतम राशि नहीं रखने के कारण 4,989.55 करोड़ रुपये बतौर जुर्माना वसूला गया है. एसबीआई के बाद दूसरे नंबर पर निजी बैंक एचडीएफसी है. एचडीएफसी बैंक ने 590.84 करोड़ रुपये बतौर जुर्माना वसूला है. वहीं एक्सिस बैंक ने 530.12 करोड़ रुपये और आईसीआईसीआई बैंक ने 317.60 करोड़ रुपये वसूले हैं.इससे पहले वित्त वर्ष 2016-17 में बैंकों ने 2319.29 करोड़ रुपये बतौर जुर्माना वसूला था.

मॉरीशस के SBM को सहायक के लिए मिली आरबीआई की स्वीकृति

#Mughalsarai Junction, #BHU-AIIMS, # Sindhu

मॉरीशस स्थित SBM समूह को देश में संचालन करने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक की मंजूरी मिली है. यह 2013 में स्थानीय निगमन के बाद इस तरह के लाइसेंस प्राप्त करने वाला पहला ऋणदाता है.सिंगापुर का DBS बैंक एक अन्य ऋणदाता है जो RBI से अपनी 12 शाखाओं को पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी में बदलने के लिए अंतिम मंजूरी की प्रतीक्षा कर रहा है.

विश्‍व बैडमिंटन चैम्‍पियनशिप में पीवी सिंधु को रजत पदक

#Mughalsarai Junction, #BHU-AIIMS, # Sindhu

भारत की पी वी सिंधू को विश्‍व बैडमिंटनचैंपियनशिप में रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा है। चीन के नानजिंग में खेले गए फाइनल में सातवीं वरीयता प्राप्‍तस्‍पेन की कैरोलिना मारिन ने तीसरी वरीयता प्राप्‍त सिंधू को 21-19, 21-10 से पराजित किया।मारिन ने तीसरी बार गोल्ड मेडल जीता है. इससे पहले, उन्होंने साल 2014 और 2015 में गोल्ड अपने नाम किया था. वहीं, सिंधु ने पिछले साल सिल्वर मेडल जीता था. उन्हें फाइनल में जापान की नोजोमी ओकुहारा ने मात दी थी. सिंधु ने इसके अलावा, 2013 और 2014 में ब्रॉन्ज भी जीता है.


Leave a Reply

Your email address will not be published.