1. गुलाम वंश – सल्तनत काल

मोहम्मद गौरी के गुलाम कुतबुद्दीन एबक ने 1206ई. में गुलाम वंश की स्थापना की थी | कुतबुद्दीन एबक ने अपनी राजधानी लाहौर में बनायीं थी | कुतुबमीनार की नीव क़ुतुबुद्दीन ने ही डाली थी अजमेर में ढाई दिन का झोपड़ा एवं...

1.2 खिलजी वंश – सल्तनत काल

अवधि 1290 से 1320ई. गुलाम वंश के शासन को ख़त्म कर 13 जून 1290 ई. को जलालुद्दीन फ़िरोज़ खिलजी ने खिलजी वंश की नीव डाली इसने किलोखरी को अपनी राजधानी बनाया | जलुद्दीन के भतीजे और दामाद अलुद्दीन खिलजी ने 1296...

2. तुगलक वंश – सल्तनत काल

अविधि 1320 – 1398 ई. 5 सितम्बर ,1320ई. को खुसरो खां को पराजित करके गाजी मलिक या तुगलक गाजी गयासुद्दीन तुगलक के नाम से 8 सितम्बर 1320ई. को दिल्ली के सिंहासन पर बैठा | इसने सिंचाई के लिए कुएं एवं नहरों...

3. सैयद् वंश – सल्तनत काल

अविधि 1414 से 1451 ई. इस वंश का संस्थापक खिज्र खां था| इसने सुल्तान की उपाधि न धारण करते हुए अपने को रैयत-ए-आला की उपाधि से ही खुश रखा| खिज्र खां तेमूरलंग का सेनापति था | खिज्र खां की मृत्यु 1421...

4. लोधी वंश – सल्तनत काल

लोधी वंश की स्थापना बहलोल लोधी ने की थी | दिल्ली पर प्रथम अफगान राज्य की स्थापना का श्रेय बहलोल लोधी को जाता है | बहलोल लोधी के बाद उसका पुत्र निजाम खां 1489 ई. में दिल्ली के सिंहासन पर बैठा...

5. विजयनगर साम्राज्य – सल्तनत काल

विजयनगर सम्राज्य की स्थापना 1336 ई. में हरिहर और बुक्का नामक दो भाइयों ने की थी | इन्होने अपने पिता संगम के नाम पर संगम वंश की स्थापना की | विजयनगर राज्य की राजधानी हम्पी थी| इस सम्राज्य पर क्रमशः निम्न...

6. बहमनी राज्य – सल्तनत काल

मुहम्मद बिन तुगलक के शासनकाल में 1347ई. में हसनगंगू ने बहमनी राज्य की स्थापना की वह अलाउद्दीन हसन बहमन शाह के नाम से सिंहासन पर बैठा | इसकी राजधानी गुलबर्गा थी राजभाषा मराठी थी | अलाउद्दीन हसन की मृत्यु 11 फरवरी...

  मुग़ल साम्राज्य

                                    मुग़ल साम्राज्य मुग़ल वंश का संस्थापक बाबर था | इसके द्वारा मुग़ल वंश की स्थापना के साथ ही पद-पादशाही की स्थापना की , जिसके...

बाबर (1526-1530ई.)

फरगाना नाम के एक छोटे से राज्य के शासक उमरशेख मिर्ज़ा के यहाँ 1483 ई. को बाबर का जन्म हुआ था | बाबर फरगाना की गद्दी पर 8 जून 1494 ई. में बैठा | बाबर ने 1507ई. में बादशाह की उपाधि...

हुमायूँ-(1530-1556ई.)

29 दिसंबर 1530ई. को हुमायूँ आगरा में सिंहासन पर बैठा | 1533ई. में हुमायूँ ने दीनपनाह नामक नए नगर की स्थापना की थी | 25 1539ई. को हुमायूँ का युद्ध शेर खां से हुआ जिसे चौसा का युद्ध कहा जाता है...