चन्द्रगुप्त मौर्य- Chapter 1

चक्रवर्ती सम्राट चन्द्र गुप्त मौर्य (शासनकाल: 322 से 298 ई. पू.तक) की गणना भारत के महानतम शासकों में की जाती है। उसकी महानता कई बातों में अद्वितीय भी है , वह भारत के प्रथम ‘ऐतिहासिक’ सम्राट के रूप में हमारे सामने...

 दक्षिण का दरवाज़ा – बुरहानपुर

दक्षिण के दरवाजे के नाम अपनी पहचान रखने वाला नगर बुरहानपुर अपने आप में एक अनूठा इतिहास समेटे हुए, आधुनिक दुनिया के साथ जुड़ा हुआ इतिहास के पुल के समान है | वर्तमान में भारत के मध्य प्रदेश में स्थित ये...

राम प्रसाद ‘बिस्मिल’

जन्म: ११ जून १८९७ फाँसी: १९ दिसम्बर १९२७    राम प्रसाद ‘बिस्मिल’ भारत के क्रान्तिकारी, स्वतन्त्रता सेनानी व कवि, शायर, अनुवादक, बहुभाषाभाषी, इतिहासकार व साहित्यकार थे।उन्होंने सन् १९१६ में १९ वर्ष की आयु में क्रान्तिकारी मार्ग में कदम रखा था।  ...

टीपू सुल्तान

टीपू सुल्तान (1750 – 1799) कर्नाटक  में प्राचीन मैसूर राज्य के शासक थे। जन्म टीपू सुल्तान का जन्म 20 नवम्बर 1750 को कर्नाटक के देवनाहल्ली (यूसुफ़ाबाद)  हुआ था। उनका पूरा नाम सुल्तान फतेह अली खान शाहाब था। उनके पिता का नाम...

महाराणा प्रताप

४ मई १५४० में महाराणा प्रताप का जनम राजस्थान के कुम्भलगढ़ में हुआ था उनके पिता का नाम महाराणा उदय सिंह और उनकी माता का नाम रानी जीवंत कँवर था वह अपने २५ भाइयो में सबसे बड़े थे और उनके पिता...

कालिदास

कालिदास एक प्राचीन संस्कृत लेखक थे , वह एक बहुत बड़े कवी और नाटककार भी थे उनका जनम ४ सदी इसवी में हुआ था उनके पैदा होने का कोई लिखित प्रमाण अभी तक हासिल नहीं हुआ है पर ऐसा जाना जाता...

समुद्रगुप्त

चन्द्रगुप्त और कुमारदेवी का पुत्र समुद्रगुप्त था उसने ३३५-३८० इसवी तक राज्य किया गुप्ता वंश का वह दूसरा शाशक था उसको भारतीय नेपोलियन के नाम से जाना गया वह वीना खेलने के सिक्कों में दिखाया गया है उसका विक्रमंका नमक उपाधि...

कहानी हैदराबाद रियासत की

स्वतंत्रता प्राप्ति के पश्चात 1 वर्ष, 1 माह और 4 दिन तक हैदराबाद भारत से अलग रहा था 15 अगस्त 1947 के दिन भारत परतन्त्रता की बेड़ियों से आजाद हुआ। आजाद होने के समय लगभग 562 देशी रियासतें ऐसी थीं जिन...

भारत में हुए प्रमुख युद्ध (Major Battles And Wars In India )

ई.पू. 326 – वितस्ता का युद्ध (Battle of Hydaspes) – झेलम नदी के किनारे प्रसिद्ध ‘वितस्ता का युद्ध’ सिकन्दर (Alexander) तथा पौरव (पोरस) के बीच हुआ था जिसमें सिकन्दर पौरव के पराक्रम से अत्यन्त प्रभावित हुआ था। ई.पू. 261 – कलिंग...

महत्वपूर्ण बिंदु – 10

1.सबसे पहले मिले फॅासिल का नाम ‘Lucy’ रखा गया था. 2. $ चिन्ह की शुरूआत 1788 से हुई. 3. रोम के तानाशाह जूलियस सीज़र ने ईसा पूर्व 45 वें साल में जब जूलियन कैलेंडर की स्थापना की, उस समय विश्व में पहली बार 1जनवरी को नए...